रविवार को सुप्रीम कोर्ट में बनेगा एक नया इतिहास ऐसा करने वाले होगें पीएम मोदी

नई दिल्ली। देश के इतिहास में ये पहली दफा होगा जब कोई प्रधानमंत्री रविवार के दिन सुप्रीम कोर्ट परिसर में दाखिल होगा। मिली जानकारी के मुताबिक, पीएम मोदी रविवार को बंगाल की खाड़ी के देशों के सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायधीशों की कॉन्फ्रेंस को संबोधित करेंगे, हालांकि मूल कार्यक्रम में प्रधानमंत्री के शामिल होने की योजना नहीं थी, लेकिन शनिवार को इसमें तब्दीली की गई है।सुप्रीम कोर्ट Supreme Courtकार्यक्रम में बदलाव की खबर आते ही प्रधानमंत्री के सुरक्षा दस्ते ने शनिवार दोपहर तक सुप्रीम कोर्ट परिसर की सुरक्षा अपने हाथों में ले ली और दिल्ली पुलिस को बाहर तैनात कर दिया गया, रूटीन सुरक्षा ड्रिल के बाद एसपीजी ने पूरा परिसर खंगाला।

बता दें कि भारत पहले भी बिम्सटेक देशों के न्यायपालिका प्रमुखों की बैठक की मेजबानी कर चुका है, लेकिन यह पहला मौका है जब प्रधानमंत्री इसमें शामिल होंगे। मुख्य न्यायधीशों की कॉन्फ्रेंस एक दिवसीय है। बिम्सटेक में भारत के अलावा नेपाल, थाईलैंड, म्यांमार, बांग्लादेश और भूटान शामिल हैं।Justice Ranjan Gogoi sworn

इन विषयों पर चर्चा

जानकारी के मुताबिक, इस राउंड टेबल कॉन्फ्रेंस में सीमा पार आतंकवाद, बहुराष्ट्रीय संगठित अपराध, मानव और नशीले पदार्थों की तस्करी से संबंधित मुकदमों और उनसे जुड़े कानूनी पहलुओं पर विचार विमर्श होगा।

इस कॉन्फ्रेंस में मेजबान भारत की ओर से सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस समेत पांच शीर्षस्थ न्यायाधीश शामिल होंगे। चीफ जस्टिस रंजन गोगोई, जस्टिस मदन बी लोकुर, जस्टिस कुरियन जोसफ, जस्टिस अर्जन कुमार सीकरी और जस्टिस शरद अरविंद बोबडे इस कार्यक्रम में शिरकत करेंगे।

source name:hindi.newsroompost

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *